Below Post Ad

Type Here to Get Search Results !

अकबर - बीरबल की कहानी: बादशाह का गुस्सा और सबसे प्यारी चीज

0

पढ़ें: English

अकबर - बीरबल की कहानी: बादशाह का गुस्सा और सबसे प्यारी चीज | Akbar - Birbal Ki Kahani: Badshah Ka Gussa Aur Sabse Pyari Cheez
अकबर - बीरबल की कहानी: बादशाह का गुस्सा


अकबर - बीरबल की कहानी: बादशाह का गुस्सा और सबसे प्यारी चीज | Akbar - Birbal Ki Kahani: Badshah Ka Gussa Aur Sabse Pyari Cheez


नाराज बादशाह अकबर ने बेगम साहिबा को क्या हुकुम दिया?

बादशाह अकबर किसी बात पर अपनी बेगम साहिबा से नाराज हो गए थे। नाराजगी इतनी बढ़ गई थी कि उन्होंने बेगम साहिबा को उनके मायके जाने को कह दिया। पर बेगम साहिबा ने सोचा कि शायद बादशाह अकबर ने यह बात गुस्से में कह दिया होगा, इसलिए वह अपने मायके नहीं गई। जब बादशाह ने देखा कि बेगम साहिबा अभी तक अपने मायके नहीं गई है तो उन्होंने गुस्से से कहां बेगम साहिबा अभी तक आप यहीं हो, आप अपने मायके नहीं गई, सुबह होते ही आप अपने मायके चली जाना वरना आपके लिए अच्छा नहीं होगा। आप चाहे तो अपनी सबसे प्यारी चीज साथ ले जा सकती हैं। तब बेगम साहिबा सिसक कर जनानखाने में चली गई। वहाँ जाकर उन्होंने बीरबल को बुलवाया।


बीरबल ने बेगम साहिबा को क्या सुझाव दिया?

बीरबल बेगम साहिबा के सामने पेश हो गया। बेगम साहिबा ने बीरबल को बादशाह अकबर की नाराजगी और उनके हुक्म के बारे मे भी बता दिया। तब बीरबल ने बेगम साहिबा से कहा, बेगम साहिबा अगर बादशाह अकबर ने आपको मायके जाने के लिए हुक्म दिया है तो आपको जाना ही पड़ेगा और अपनी सबसे प्यारी चीज ले जाने की बात जैसा मैं कहता हूँ वैसा ही करें, तब बेगम साहिबा ने बीरबल के कहे मुताबिक रात में बादशाह अकबर को नींद की दवा दे दी और नींद में ही बादशाह अकबर को पालकी में डालकर अपने साथ मायके ले आई और एक कमरे में बादशाह अकबर को सुला दिया।


अकबर - बीरबल की कहानी: बादशाह का गुस्सा और सबसे प्यारी चीज
अकबर - बीरबल की कहानी: सबसे प्यारी चीज


बेगम साहिबा ने क्या दिया जवाब कि बादशाह अकबर का गुस्सा फुर्र हो गया!

जब बादशाह की नींद खुली तो खुद को अनजाने जगह पर पाकर हैरान हो गए और कोई है कह कर जोर - जोर से पुकारने लगे। बादशाह अकबर की आवाज सुनकर बेगम साहिबा वहां उपस्थित हो गई। वहाँ बेगम साहिबा को देखकर बादशाह अकबर समझ गए कि वह बेगम साहिबा के मायके में हैं और उन्होंने गुस्से से पूछा बेगम साहिबा आप हमें भी यहाँ ले आई, इतनी बड़ी गुस्ताखी कर डाली। तब बेगम साहिबा बादशाह अकबर से कहती हैं मेरे सरताज, आपने ही तो कहा था कि आप अपनी सबसे प्यारी चीज साथ ले जा सकती हैं। इसलिए आपको ले आई क्योंकि मेरे लिए सबसे प्यारी चीज आप ही हो। यह सुनकर बादशाह अकबर का गुस्सा फुर्र हो गया और मुस्कुराते हुए बोले, यह तरकीब जरूर तुम्हें बीरबल ने ही बताई होगी। बेगम साहिबा ने हामी भरते हुए सिर हिला दिया।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Top Post Ad

Below Post Ad