Short Stories For Jr Kg Students
अहसान फरामोश

Short Stories For Jr Kg Students

Short Stories For Jr Kg Students – Top Best चूहा और ऋषि मुनि की कहानी

Short Stories For Jr Kg Students

चूहा और ऋषि मुनि की कहानी

एक बहुत घने जंगल में एक ऋषि मुनि अपनी कुटिया में रहा करते थे। वह हमेशा तपस्या करते रहते थे। एक दिन जब वह अपने तपस्या में खोये हुए थे। तो उनकी गोद में एक चूहा आ गिरा। जो एक उड़ते हुए कौए की चोंच में से छूट गया था। मुनि ने उसे प्यार से उठाया और अपने बच्चे की तरह उसका पालन पोषण करने लगे।

Short Stories For Jr Kg Students

परंतु एक दिन एक बिल्ली उस पर झपट पड़ी और चूहा अपनी जान बचा मुनि की गोद में कूद पड़ा। ऋषि मुनि ने उसका बचाव करते हुए कहा तो तुम बिल्ली से डरते हो। क्यूं न तुम्हें बिल्ली ही बना दूं जाओ और बिल्ली बन जाओ। वाह! चूहा तो सचमुच बिल्ली में परिवर्तन हो गया।

Short Stories For Jr Kg Students

परंतु बिल्ली भी तो कुत्तों से डरती है और दूसरे दिन वही हुआ। बिल्ली पर कुत्ते ने हमला कर दिया और बिल्ली झट से ऋषि मुनि के पास आ गई। ऋषि मुनि ने कहा ओह! क्या अब तुम्हें कुत्ते से डर लगने लगा तो जाओ तुम भी कुत्ता बन जाओ।

Short Stories For Jr Kg Students

यह भी पढ़ें :- यह Motivational Story आपकी जिंदगी बदल देगी | Short Motivational Story

कहने की देर थी बिल्ली कुत्ते में परिवर्तित हो गई। परंतु क्या कुत्ता निडर हो सकता है ? अब उसे शेर से डर लगने लगा। तब फिर से चूहा ऋषि मुनि के पास गया।

तब ऋषि मुनि ने कहा क्यूं न तुम्हें शेर ही बना दूं, कम से कम फिर तो तुम्हें किसी से डर नहीं लगेगा। ओर फिर सचमुच वह कमजोर चूहा देखते ही देखते एक शक्तिशाली शेर बन गया। परंतु ऋषि मुनि तो उसे आज भी शायद चूहा ही समझ रहे थे। शेर ने सोचा जब तक ऋषि मुनि जिंदा रहेगा मुझे भी अपना पुराना रूप याद आता रहेगा।

Short Stories For Jr Kg Students

इसे समाप्त करने में ही मेरी भलाई है। न रहेगा बांस – न बजेगी बांसुरी। इससे पहले की शेर ऋषि मुनि पर हमला करे ऋषि मुनि ने उसके मन के भाव पढ़ लिये और बोले जाओ अहसान फरामोश दुबारा चूहा बन जाओ, तुम उसी लायक हो बलशाली शेर फिर दुबारा चूहा बन गया।

चूहा और ऋषि मुनि की कहानी से हमे क्या शिक्षा मिलती हैं।

शिक्षा:- अच्छा तो बताओ बच्चों इससे तुम क्या समझे की भोजन देने वाले हाथों को कभी घायल नहीं करना चाहिये।